Loading...

  • Saturday January 22,2022

माइंडफुलनेस पर कार्यशाला  का आयोजन,मानसिक रूप से स्वस्थ मस्तक में ही अच्छे विचार उत्पन्न होते हैं-कुलपति प्रोफेसर अमेरिका सिंह

Snow

उदयपुर.मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय के मनोविज्ञान विभाग के द्वारा दिनांक 6 दिसंबर को  माइंडफुलनेस पर कार्यशाला  का आयोजन रूसा 2.0 के अंतर्गत विश्वविद्यालय परिसर में किया गया। कार्यक्रम  के मुख्य अतिथि प्रो अमेरिका सिंह जी, कुलपति, मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय ने अपने संदेश में इस तरह की कौशल कार्यशालाओं को मानसिक स्वास्थ्य की दिशा में महत्वपूर्ण कदम बताया उन्होंने कहा कि आज की दौड़ भरी जिंदगी में हर व्यक्ति का मानसिक रूप से स्वस्थ होना अति आवश्यक है क्योंकि स्वस्थ मस्तिक में ही अच्छे विचार उत्पन्न होते हैं। प्रो सी.आर सुथार, डीन, सामाजिक विज्ञान और मानविकी महाविद्यालय ने  तनाव, चिंता, व्यवहार के निदान में आवश्यक बताते हुए मनोविज्ञान की समाज में उपयोगिता के बारे में बताया। मनोविज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष प्रो कल्पना जैन ने अतिथियों का स्वागत करते हुए बताया कि इसका उपयोग आंतरिक शांति, ध्यान में किया जाता है। इसे बोद्ध से संबंधित बताया। कार्यक्रम के विषय विशेषज्ञ के रूप में प्रोफेसर एम. पी.शर्मा, मनोविज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष,राष्ट्रीय मानव स्वास्थ्य संस्थान (NIMHAMS), बेंगलोर ने बताया कि यह एक वैज्ञानिक विधि है। इससे मनोवैज्ञानिक व शारीरिक बीमारियों का इलाज संभव है। इसके अंतर्गत गैर आलोचनात्मक,चुनाव रहित जागरूकता, जीवन के विश्वासों से मुक्त होना शामिल है। संकाय सदस्य सहायक आचार्य डॉ रश्मि सिंह, डॉ हेमा कुमारी मेहर,डॉ रमेश बागड़ी उपस्थित रहे। कार्यशाला के आयोजक सचिव, डॉ. तरुण कुमार शर्मा ने बताया कि यह कार्यशाला दो दिनों तक चलेगी और सभी उपस्थित पदासिन अतिथियों व प्रतिभागियों को धन्यवाद दिया। कार्यक्रम का संचालन निमिषा खंडेलवाल द्वारा किया गया।

0 Comments