उपखण्ड पीपलखूट में महिलाओं ने किया करवा चौथ का व्रत,पति के दीर्घायु की करी मंगलकामना*

पीपलखूट में महिलाओं ने आज करवा चौथ के दिन अपने पति की लंबी उम्र की कामना के साथ उपवास कर करवा चौथ का व्रत रखा है।
वही शाम को महिलाओं द्वारा सज संवर कर माँ अम्बे मंदिर आकर करवा की पूजा अर्चना कर कथा का आयोजन भी किया गया है।
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार कार्तिक मास में कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि पर करवा चौथ का पावन व्रत रखा जाता है। हिंदू धर्म में करवा चौथ व्रत का  बहुत अधिक महत्व होता है। सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए इस व्रत को रखती हैं। करवा चौथ का व्रत निर्जला व्रत होता है। इस व्रत में पानी का सेवन भी नहीं किया जाता है। करवा चौथ व्रत चांद के दर्शनों के बाद तोड़ा जाता है। महिलाएं चंद्रमा को अर्घ्य देकर अपना व्रत तोड़ती हैं।

0 Comments