Loading...

  • Monday January 24,2022

तालिबान ने अफगान फोक सिंगर को मौत के घाट उतारा, बेटा लगा रहा है न्याय की गुहार

नई दिल्ली। तालिबान ने एक अफगान फोक सिंगर की बिना किसी कारण के हत्या कर दी है। कलाकार फवाद अंदाराबी के परिवार ने इस मामले की पुष्टि की है। उसका दावा है कि यह हत्या अंदाराबी घाटी में अंजाम दी गई, जो फवाद के नाम पर रखी गई।

अंदाराबी घाटी बगलान प्रांत में है जो राजधानी काबुल से 100 किलोमीटर की दूरी पर है। इस बीच तालिबान ने फोक सिंगर की हत्या क्यों की, इसकी वजह का खुलासा नहीं हुआ है। इस हत्या के बाद से यहां के लोग दहशत में हैं। तालिबान के शासन में आने के बाद से ही अंदाराबी घाटी में हालात बेहद खराब स्थिति में हैं।

ये भी पढ़ें: काबुल एयरपोर्ट के पास रिहाइशी इलाके में रॉकेट हमला, एक मासूम समेत दो की मौत

 

पहले भी घर की तलाशी ले चुके थे तालिबान

फवाद के बेटे जवाद अंदाराबी ने मीडिया को बताया कि ऐसा नहीं है कि तालिबानी पहली बार उनके घर पर आए थे। इससे पहले भी वह यहां आ चुके थे और घर की तलाशी ली गई थी। इसके बाद उन्होंने फवाद के साथ बैठकर चाय भी पी थी। मगर शुक्रवार को अचानक क्या हुआ कि तालिबान लड़ाकों ने उनके पिता की हत्या कर दी। फवाद के बेटे ने बताया कि इस मामले में वे खामोश नहीं बैठेंगे और न्याय के लिए आवाज बुलंद करेंगे। उसने स्थानीय तालिबान काउंसिल में भी मामले को उठाया है। वहीं तालिबान प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद का कहना है कि इस मामले की जांच की जाएगी। हालांकि हत्या को लेकर कोई अन्य जानकारी नहीं मिली है।

कौन थे फवाद अंदाराबी

फवाद अंदाराबी अफगानिस्तान में लोक गायक थे। उनके बेटे ने बताया कि वह बेहद सादगी से रहने वाले इंसान थे। वे अपनी कला के जरिए लोगों का मनोरंजन करते थे। फवाद प्रार्थनाएं और पारंपरिक गीतों को गाया करते थे। अंदाराबी ने घिचक गाया था जो एक प्रार्थना गीत है। उनकी परफॉर्मेंस का एक वीडियो भी ट्विटर पर सामने आया है। इसमें वह मातृभूमि के प्रति अपने प्रेम को दर्शा रहे हैं।

ये भी पढ़ें: काबुल एयरपोर्ट के पास रिहाइशी इलाके में रॉकेट हमला, एक मासूम समेत दो की मौत

कॉमेडियन की भी हत्या कर दी थी

यह पहला मामला नहीं है जब तालिबान ने किसी कलाकार को मौत के घाट उतार दिया हो। इससे पहले एक अनजान बंदूकधारी ने कांधार प्रांत में मशहूर कॉमेडियन खास जवान की हत्या कर री थी। खासा जवान को नजर मोहम्मद के नाम से जाना जाता था। इसके अलावा तालिबान महिलाओं के प्रति क्रूरता दिखा रहा है। उसने पुरुषों के बिना महिलाओं के बाहर जाने प्रतिबंध लगा रखा है।

Read More

0 Comments