लोकल स्पेशल:अब घर से भी बना सकते है लर्नर लाइसेंस

परिवहन विभाग, राजस्थान द्वारा शुरू की गई ऑनलाइन लर्नर लाइसेंस की सुविधा
- अब घर से ही किसी भी समय कर सकते है आवेदन और दे सकते है टेस्ट   
 प्रदेशवासियों को अब लर्नर लाइसेंस बनाने के लिए परिवहन कार्यालय नहीं जाना पड़ेगा। अब घर से भी मोबाइल, लैपटॉप या डेस्कटॉप के जरिए लाइसेंस के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के साथ-साथ टेस्ट देने की सुविधा भी मिलेगी। साथ ही टेस्ट में पास होते ही लाइसेंस सर्टिफिकेट भी डाउनलोड किया जा सकेगा। हालांकि लर्नर लाइसेंस के लिए ऑनलाइन आवेदन कर टेस्ट देने की सुविधा पूर्व के अनुसार परिवहन कार्यालय में भी यथावत रहेगी। 
परिवहन मंत्री श्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने बताया कि विभाग द्वारा गुरूवार से यह सुविधा शुरू कर दी गई है। इस सुविधा से आवेदकों कतार में नहीं लगना पड़ेगा, और समय की बचत भी होगी। एक लाइसेंस बनाने में लगभग 20 मिनट का समय लगेगा। हालांकि लर्नर के बाद स्थाई लाइसेंस के लिए नजदीकी परिवहन कार्यालय जाना पड़ेगा।
श्री खाचरियावास ने बताया कि इस सेवा के ऑनलाइन होने के बाद आवेदक घर बैठे किसी भी समय लर्नर लाइसेंस के लिए ऑनलाइन टेस्ट दे सकता है। टेस्ट में पास होने के बाद प्रिंटर के जरिए ।4 साइज पेपर पर लाइसेंस का प्रिंट निकाल सकता हैं। 
लर्नर लाइसेंस के लिए प्रक्रिया
परिवहन आयुक्त श्री महेंद्र सोनी ने बताया कि लाइसेंस बनाने के लिए https://parivahan.gov.in/parivahan/ पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इसमें ऑनलाइन सर्विसेज-ड्राइविंग लाइसेंस रिलेटेड सर्विसेज-अप्लाई फॉर लर्नर लाइसेंस-कंटिन्यू-एप्लिकेंट डज नॉट होल्ड ड्राइविंग/ लर्नर लाइसेंस के बाद सब्मिट करना होगा। इसके बाद ‘वाया आधार (ई-केवाईसी) प्रमाणीकरण‘ को सब्मिट करना होगा।  
आधार (ई-केवाईसी) प्रमाणीकरण का विकल्प चुनने पर ऎसे करे आवेदन 
1- ई-केवाईसी प्रक्रिया मेंं आधार नंबर दर्ज करने पर आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आयेगा। ओटीपी दर्ज से सत्यापन करने के बाद आधारकार्ड में अंकित नाम, जन्मतिथि, घर का पता और अन्य जानकारी स्वतः ही आवेदन में भर जायेगी। इसके बाद लर्नर लाइसेंस की फीस जमा कराने की विकल्प मिलेगा। फीस जमा होने के बाद 12 मिनट का एक वीडियो देखना होगा। इसमें यातायात नियमों की पालना संबंधित जानकारी होगी। इसके पूरा होने के बाद मोबाइल पर मैसेज के जरिए आवेदन नंबर और पासवर्ड प्राप्त होगा, उससे ही ऑनलाइन टेस्ट दिया जा सकेगा। इस टेस्ट में 20 प्रश्न होंगे, जिनमें से 12 सही करने पर ही पास होंगे। ये 20 प्रश्न हर आवेदकों के पास अलग-अलग आयेंगे। इसके बाद आवेदक ओटीपी के जरिए लर्नर लाइसेंस डाउनलोड कर सकते हैं। ई-केवाईसी का विकल्प तभी चुने, जब कि आधार में दर्ज सभी जानकारी सहीं हो। 
2- आधारकार्ड में दर्ज जानकारी (जन्मतिथि व पता) के अनुसार आवेदन नहीं करने की स्थिति में आवेदक को जन्मतिथि, घर का पता आदि के साक्ष्य अपलोड करने होंगे। इसके बाद परिवहन कार्यालयों में संबंधित कर्मचारी आवेदन में अपलोड किये गए दस्तावेज साक्ष्य के रूप में मान्य होने पर, आवेदन में अंकित सूचनाओं से मिलान करेगा। आवेदन नियमानुसार होने पर आवेदक टेस्ट दे सकेगा। दोनों ही विकल्प में आवेदक की फोटो आधार से ही ली जायेगी।
 
मिलेगा 7 दिन का समय, फीस पूर्व भांति ही 
आवेदक को दोनों ही विकल्प में आईडी-पासवर्ड प्राप्त होने की तिथि से 7 दिन के अंदर ही टेस्ट देना होगा। ऎसा नहीं करने पर आवेदक को फिर से परीक्षा फीस जमा करानी होगी। उल्लेखनीय है कि इस सुविधा के लिए भी पूर्व के अनुसार ही फीस जमा होगी। इसमें एक श्रेणी के लिए 200 रूपये और दो श्रेणी के लिए 350 रूपये जमा होगी। 

0 Comments