टोकन से मिलेगा लहसुन प्याज मंडी में प्रवेश, किसानों की संख्या सीमित रखने के लिए मंडी प्रशासन ने लिया निर्णय

प्रतापगढ़। कृषि उपज मंडी में लहसुन प्याज की नीलामी शुरू होने के साथ ही किसानों के बड़ी संख्या में आ जाने के बाद मंडी प्रशासन ने 5 अक्टूबर से नई व्यवस्था शुरू करने का निर्णय लिया, जिससे कोविड-19 समय में मंडी की व्यवस्था सुचारू रह सके।
कृषि उपज मंडी सचिव मदन लाल गुर्जर ने बताया कि गुर्जर ने बताया कि लहसुन प्याज की नीलामी शुरू होने के साथ ही मंडी में बड़ी संख्या में किसान अपनी उपज लेकर पहुंच गए थे। कोविड-19 के समय में में मंडी में किसानों और वाहनों की संख्या सीमित रखने के लिए मंडी समिति की ओर से टोकन जारी किए जाएंगे। टोकन के लिए किसानों को आवेदन भरकर देना होगा। इस आवेदन में किसान के मोबाइल नंबर के साथ ही आधार कार्ड और बैंक डायरी की फोटोकॉपी लगानी होगी। दस्तावेजों की जांच के बाद किसान को टोकन जारी किया जाएगा। टोकन सुबह 11:00 बजे से 1:00 बजे तक जारी किए जाएंगे। मंडी में लहसुन और प्याज लेकर आने के दौरान टोकन साथ लाना अनिवार्य होगा। बिना टोकन के मंडी में मंडी में में में प्रवेश नहीं दिया जाएगा इसके साथ ही जिस दिनांक के लिए टोकन जारी किया जाएगा उसी दिन काश्तकार को अपनी उपज लेकर आना होगा। लहसुन प्याज लेकर आने वाले किसानों को मंडी के पीछे की गेट से से प्रवेश दिया जाएगा। मंडी सचिव गुर्जर ने बताया कि 1 दिन में डेढ़ सौ टोकन जारी किए जाएंगे। इसमें 100 लहसुन और 50 प्याज के टोकन जारी किए जाएंगे। इसके साथ ही मंडी में आने वाले किसानों को कोविड-19 के दिशानिर्देशों की पालना करना अनिवार्य होगा।

0 Comments